Electricity Rate Hike: बिहार में फिर बढ़ेगी बिजली की कीमत ? पांच अगस्त को हाेगी सुनवाई.

Electricity Rate Hike: बिजली दर में बढ़ोतरी प्रस्ताव पर 5 अगस्त को सुनवाई होगी। बिहार विद्युत विनियामक आयोग ने तीन बिजली कंपनियों की ओर से दायर रिव्यू पीटिशन को एडमिट कर लिया है।

 

Electricity Rate Hike: बिजली कंपनी मुख्यालय के अधिकारियों के मुताबिक साउथ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी, नॉर्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी और बिहार स्टेट पावर ट्रांसमिशन कंपनी ने रिव्यू पीटिशन में 15 फीसदी की जगह 19.50 फीसदी लॉस की मंजूरी देने की मांग की है। इस पर आम जनता के साथ बिजली कंपनी का पक्ष सुनने के बाद आयोग फैसला सुनाएगा। वित्तीय वर्ष 2022-23 का बिजली दर निर्धारण के लिए कंपनी ने नवम्बर 2021 में विनियामक आयोग को प्रस्ताव दिया था। इसमें 9.90 फीसदी दर बढ़ोतरी की मांग थी।

इस पर जनसुनवाई के बाद आयोग के अध्यक्ष शिशिर सिन्हा और सदस्य एससी चौरसिया ने मार्च 2022 में फैसला सुनाया था। आयोग ने अपने फैसले में बिजली कंपनी के दर बढ़ोतरी प्रस्ताव को खारिज कर दिया था। इसके साथ ही बिजली दर में बढ़ोतरी नहीं की थी। वर्तमान समय में यह फैसला 1 अप्रैल 2022 से 31 मार्च 2023 तक लागू है।

बिजली कंपनी का औसत लॉस 30 फीसदी: Electricity Rate Hike

आयोग ने वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए 15 फीसदी लॉस को मंजूरी दी है। इससे अधिक लॉस होने पर बिजली कंपनी को भरपाई करनी है। जबकि साउथ और नॉर्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी का औसत लॉस करीब 30 फीसदी है। कंपनी के अधिकारियों के मुताबिक केंद्र की आरडीएसएस योजना में 19.50 फीसदी का लॉस का मानक तय किया गया है।

कोरोना संक्रमण के दौरान शतप्रतिशत बिजली बिल की वसूली नहीं हुई है। आर्थिक स्थित ठीक नहीं होने के कारण ज्यादातर ग्रामीण उपभोक्ताओं का किस्त किया गया है। इस आधार पर बिजली कंपनी के घाटा से बचाने के लिए दर में बढ़ोतरी की आवश्यकता है। रिव्यू पीटिशन के माध्यम से 4.50 फीसदी अतिरिक्त लॉस मंजूर करने की मांग की गयी है।

वर्तमान बिजली दर (शहरी घरेलू उपभोक्ता): Electricity Rate Hike

 

यूनिट आयोग का दर अनुदान:

  • 0 से 100 यूनिट 6.10 रुपए, 1.83 रुपए अनुदान
  • 101 से 200 यूनिट 6.95 रुपए, 1.83 रुपए अनुदान
  • 200 से उपर यूनिट 8.05 रुपए, 1.83 रुपए अनुदान

ग्रामीण घरेलू उपभोक्ता: Electricity Rate Hike

 

यूनिट आयोग का दर, अनुदान:

  • 0 से 50 यूनिट 6.10 रुपए, 3.50 रुपए अनुदान
  • 51 से 100 यूनिट 6.40 रुपए, 3.50 रुपए अनुदान
  • 100 से उपर यूनिट 6.70 रुपए, 3.55 रुपए अनुदान

Leave a Reply