National Pension Scheme: मोदी सरकार की नयी योजना! अब हर महीने मिलेंगे 21,000 रुपये, आज ही करें अप्लाई.

National Pension Scheme: केंद्र की मोदी सरकार ने देश के नागरिकों के लिए नहीं पेंशन योजना का ऐलान किया है. जिसके बाद हर महीने आपके खाते में पूरे 21000 रुपये भेजे जाएंगे. आज हम आपके लिए एक शानदार सरकारी स्कीम लेकर आ चुके हैं. जिसमें आपको हर महीने 21000 रुपये मिलेंगे वो भी नहीं बिना नौकरी की एवं कोई बिज़नेस किये. इस सरकारी स्कीम का नाम नेशनल पेंशन सिस्टम हैं.

National Pension Scheme क्या है NPS योजना:

नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) एक सरकारी पेंशन योजना है, जिसमें इक्विटी और डेब्ट इंस्ट्रूमेंट दोनों में शामिल है. NPS को सरकार की तरफ से गारंटी मिलती है. रिटायरमेंट के बाद ज्यादा मासिक पेंशन पाने के लिए आपको NPS योजना में निवेश करना चाहिए.

National Pension Scheme 20 साल की उम्र से करना होगा निवेश:

अगर आप 20 साल की उम्र में एनपीएस में पैसे जमा करना शुरू करते हैं और हर महीने 1000 रुपये जमा करते हैं तो रिटायरमेंट की उम्र तक आपका टोटल कॉन्ट्रिब्यूशन 5.4 लाख हो जाएगा. इसके अलावा आपको इसमें सालाना 10 फीसदी का रिटर्न मिलेगा, जिसकी वजह से आपका ये निवेश बढ़कर 1.05 करोड़ हो जाएगा.

National Pension Scheme हर महीने मिलेगी 21140 रुपये पेंशन:

अब अगर एनपीएस ग्राहक 40 फीसदी कॉर्पस को एन्युटी में बदलवा लेता है तो इसकी वैल्यू 42.28 लाख होगी. वहीं, 10 फीसदी की सालाना दर से मंथली पेंशन 21,140 रुपये हो सकती है. इतना ही नहीं एनपीएस सब्सक्राइबर को करीब 63.41 लाख रुपये की एकमुश्त राशि मिलेगी.

National Pension Scheme इनकम टैक्स में मिलेगी छूट:

NPS पेंशन योजना सार्वजनिक भविष्य निधि (PPF), कर्मचारी भविष्य निधि (EPF), सुकन्या समृद्धि योजना आदि की तरह ही सरकारी योजना है. इसमें कोई भी इन्वेस्टर maturity अमाउंट का सही इस्तेमाल कर अपनी मासिक पेंशन राशि को ज्यादा बढ़ा भी सकता है. NPS के जरिए आप सालाना 2 लाख रुपये तक का टैक्स बचा सकते हैं. इनकम टैक्स के सेक्शन 80C के तहत आप अधिकतम 1.5 लाख रुपये तक टैक्स बचा सकते हैं. अगर आप NPS में निवेश करते हैं तो आपको 50,000 रुपये तक का अतिरिक्त टैक्स छूट मिलेगा.

तीन तरह के होते हैं निवेश के विकल्प:

NPS में निवेश के तीन विकल्प मिलते हैं, जिसमें निवेशक को ये चुनना होता है कि उसका पैसा कहां निवेश किया जाएगा. इक्विटी, कॉर्पोरेट डेट और सरकारी बॉन्ड्स. इक्विटी में ज्यादा एक्सपोजर होने पर इसमें रिटर्न भी ज्यादा मिलता है. ध्यान रहे कि कोई भी निवेश आप अपने निवेश सलाहकार से बातचीत करके ही करें.